इस विभाग द्वारा श्रमिक कल्याण, रोजगार, प्रशिक्षण और मानव अधिकारिता से संबंधित मामलों के लिए नीतियां, नियम तथा कार्यक्रम। श्रमिकों के लिए कल्याणकारी उपाय किये जा रहे हैं तथा रोजगार सृजन कार्यक्रम भी तैयार किये जा रहे हैं।

प्रधान सचिव श्रम एवं रोजगार विभाग के प्रमुख हैं।सरकार द्वारा तैयार की नीतियों, नियमों और आदेशों को विभाग के प्रशासनिक नियंत्रण के अधीन विभागों के प्रमुखों द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा है।

विभाग का विजन

  • श्रम कानूनों के अंतर्गत देय राशि और अधिकारों को निश्चित करने के लिए सौहार्दपूर्ण औद्योगिक संबंध, सुरक्षित कार्य वातावरण और श्रम कानूनों के कार्यान्वयन को सुनिश्चित करना।
  • निवेश को बढ़ावा देने के लिए श्रम कानूनों के तहत ऑन लाइन रजिस्ट्रेशन, लाइसेंसिंग और रिटर्न जमा करना।
  • श्रम कानूनों में सुधार और सरलीकरण।

विभाग के मुख्य उद्देश्य / लक्ष्य:

  • कामगारों को कानून के तहत न्यूनतम मजदूरी, विनिश्चित मौद्रिक लाभ, अदायगी सुनिश्चित करना।
  • श्रमिकों के लिए सुरक्षित, स्वस्थ, और उत्पादक कार्य वातावरण और कल्याण उपलब्ध कराना।
  • श्रमिकों के लिए सुरक्षित, स्वस्थ, और उत्पादक कार्य वातावरण और कल्याण उपलब्ध कराना।
  • बाल श्रम और बंधुआ मजदूरी उन्मूलन, तथा उनका पुनर्वास के सुनिश्चित करना।
  • दुर्घटना रहित, सुरक्षित तथा उत्पादक कार्य स्थलों को प्रोत्साहित करना व बढ़ावा देना।